आईवीएफ या इन विट्रो फर्टिलाइजेशन एक उपचार है जो कई माता-पिता को  संतान प्राप्ति में सहायता करता है। इस प्रक्रिया में, आपके अंडाशय से अंडे निकाले जाते हैं और शुक्राणु द्वारा निषेचित किये जाते हैं। आईवीएफ प्रक्रिया में एग डोनर (egg donor) और स्पर्म डोनर (sperm donor) का भी उपयोग किया जाता है। यदि शुक्राणु अंडे को निषेचित करता है तो उसे  भ्रूण कहा जाता है, और उन्हें गर्भाशय में डाला जाता है। 

भ्रूण गर्भाशय में प्रत्यारोपित होता है और इसके परिणामस्वरूप गर्भावस्था होती है। कुछ महिलाओं को आईवीएफ के बाद गर्भावस्था के लक्षणों ( IVF pregnancy symptoms ) का अनुभव होता है लेकिन कई महिलाओं को यह भी एहसास नहीं होता है कि उनका प्रत्यारोपण सही हुआ हैं या नहीं, जब तक वे स्कैन या ivf के बाद प्रेगनेंसी टेस्ट (Beta hcg test ) नहीं करवाती हैं।

 

Table Of Content:

  1. What are the IVF Pregnancy symptoms?

  2. IVF Pregnancy Symptoms Includes

  3. Conclusion

 

1. आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण क्या हैं? (What are the IVF Pregnancy symptoms?)

आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण स्वाभाविक रूप से गर्भवती होने पर आपके द्वारा अनुभव किए जाने वाले लक्षणों के समान होते हैं। आपके द्वारा अनुभव किया जाने वाला कोई भी लक्षण इस बात का संकेत है कि आपका शरीर जीवन में नए चरण का स्वागत करने की तैयारी कर रहा है। आईवीएफ से गुजरने वाली हर महिला आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण का अनुभव नहीं करती है। हर महिला अलग होती है, और आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण (IVF pregnancy symptoms) सप्ताह दर सप्ताह एक महिला से दूसरी महिला में भिन्न होते हैं। अतः आईवीएफ सफलता लक्षण हर महिलाएं के लिए अलग हो सकते हैं इसलिए यदि आप यह सुनिश्चित करना चाहती हैं कि आपका आईवीएफ सफल हुआ है या नहीं तो अपना गर्भावस्था परीक्षण करवाएं।

 

2. आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण में शामिल हैं (IVF pregnancy Symptoms include):

ivf-pregnancy-symptoms-in-hindi
ivf-pregnancy-symptoms-in-hindi
  • योनि स्राव और स्पॉटिंग/रक्तस्राव (Vaginal Discharge And Spotting/Bleeding)

क्या आप जानते हैं, लगभग 42% महिलाओं को आईवीएफ के बाद स्पॉटिंग (spotting) या मामूली रक्तस्राव (bleeding) का अनुभव होता है? स्पॉटिंग को इम्प्लांटेशन ब्लीडिंग (Implantation Bleeding) कहा जाता है और यह भूरे या काले रंग का हो सकता है। यदि आप सप्ताह दर सप्ताह आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण (IVF Pregnancy Symptoms) पर विचार करते हैं, तो आरोपण रक्तस्राव (Implantation Bleeding) तब होता है जब भ्रूण (Embryo) खुद को गर्भाशय की दीवार (Uterine Wall) से जोड़ता है। प्रत्यारोपण रक्तस्राव (Implantation Bleeding) आमतौर पर आपके मासिक धर्म चक्र (Menstruation Cycle) से कुछ दिन पहले होता है और एक या दो दिनों के भीतर बंद हो जाता है।

  • मिस्ड पीरियड (Missed Period)

मिस्ड पीरियड (Missed Period) आईवीएफ गर्भावस्था के सबसे आम लक्षणों में से एक है। यदि आपका मासिक धर्म नियमित है, तो एक मिस्ड पीरियड गर्भावस्था का एक निश्चित संकेत है। लेकिन अगर आपको अनियमित पीरियड्स हैं, तो पीरियड मिस करने का मतलब गर्भावस्था के साथ-साथ अन्य जटिलताएं भी हो सकती हैं (Hormonal imbalance)।

  • सूजन (Bloating)

पीरियड्स के करीब आने पर महिलाएं अक्सर सूजन महसूस करती हैं। ब्लोटिंग (Bloating) प्रोजेस्टेरोन (Progesterone) के स्तर में वृद्धि के कारण होता है जो पाचन तंत्र को धीमा कर देता है। यदि आप गर्भवती हैं, तो मासिक धर्म की तारीख से ठीक पहले सूजन हो जाती है। यह तब भी हो सकता है जब आप आईवीएफ के दौरान और भ्रूण स्थानांतरण के बाद प्रोजेस्टेरोन और कई अन्य दवाएं लेते हैं। यह भ्रूण स्थानांतरण के बाद सबसे आम आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण (IVF pregnancy symptoms) में से एक है।

  • पेशाब में वृद्धि (Increased Urination)

बार-बार बाथरूम जाना गर्भावस्था का एक और संकेत है। देर रात में पहले की तुलना में अधिक बार पेशाब करने की इच्छा शुरुआती लक्षण है जो कई महिलाओं का अनुभव होता है। ज्यादातर महिलाओं को पीरियड्स मिस होने के बाद पेशाब करने की बढ़ती इच्छा का अनुभव होता है। एक सफल भ्रूण स्थानांतरण के बाद शरीर में अतिरिक्त रक्त से पेशाब करने की आवश्यकता बढ़ जाती  है। 

यह एचसीजी (HCG) और गर्भावस्था हार्मोन प्रोजेस्टेरोन (Pregnancy Hormone Progesterone) में वृद्धि के कारण होता है। लेकिन पेशाब का बढ़ना अन्य समस्याओं जैसे कि यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (Urinary Tract Infection) का भी संकेत हो सकता है। यदि आपको बुखार, रक्तस्राव, मतली और उल्टी, और पेशाब करने में दर्द के साथ पेशाब करने की इच्छा में वृद्धि का अनुभव होता है, तो आपको अपने प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से परामर्श (Consult) करना चाहिए।

  • स्तन परिवर्तन (breast Changes)

सबसे आम आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण (IVF pregnancy symptoms) में से एक यह है कि स्तन कैसे बदलते हैं। आईवीएफ के दौरान प्रोजेस्टेरोन हार्मोन थेरेपी (Progesterone Hormone Therapy) के कारण ज्यादातर महिलाओं को दर्द, कोमल और भारी स्तनों का अनुभव होता है। स्तन परिवर्तन प्राकृतिक गर्भावस्था के भी लक्षण हैं जो  हार्मोन के स्तर में वृद्धि के कारण होते हैं।

  • आपके निपल्स की सूजन और सख्त होना (Swelling And Hardening Of Your Nipples)

निप्पल में बदलाव एक लक्षण है जो कई महिलाओं को भ्रूण स्थानांतरण (Embryo Transfer) से पहले और हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन (Hormones Oestrogen and Progesterone) देने के बाद अनुभव होता है। ये हार्मोन तरल प्रतिधारण ( Liquid Retention) का कारण बनते हैं और परिणामस्वरूप फूला हुआ और भारी महसूस होता है।

3. निष्कर्ष (Conclusion 

आईवीएफ गर्भावस्था के लक्षण (IVF pregnancy symptoms) के बावजूद, यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि हर महिला उन्हें अलग तरह से अनुभव करती है। यदि आपने इनमें से किसी भी लक्षण का अनुभव नहीं किया है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप गर्भवती (Pregnant) नहीं हैं। आप अपनी गर्भावस्था की पुष्टि करने के लिए IVF Centre in Delhi पर भी संपर्क कर सकते हैं।